यह बार-बार आ रहे भूकंप के झटके, आखिर क्या देते हैं संकेत

पुर्तगाल के मध्य अटलांटिक ज्वालामुखी द्वीपों में से एक पर 48 घंटे से कम समय के दौरान करीब 1100 हल्के भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। भूकंप के इन झटकों को विशेषज्ञों ने भूकंप संकट करार दिया है और अधिकारी आपात योजना बनाने में जुटे हैं।

अजोरस द्वीपसमूह के भूकंप-ज्वालामुखी निगरानी केंद्र सीआइवीआइएसए के प्रमुख रुई मा‌र्क्स ने सोमवार को बताया कि शनिवार दोपहर से साओ जार्ज द्वीप पर 1.9 से 3.3 तीव्रता वाले भूकंप के झटके दर्ज किए गए। उन्होंने कहा कि अभी तक किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाने वाले ज्यादातर भूकंप द्वीप के मनादास की ज्वालामुखीय दरार के साथ होने की रिपोर्ट मिली है।

यह ज्वालामुखी आखिरी बार 1808 में सक्रिय हुआ था। अजोरस द्वीपसमूह का निर्माण करने वाले नौ द्वीपों में साओ जार्ज भी शामिल है। इस द्वीप पर 8400 लोग निवास करते हैं और यह द्वीपसमूह के केंद्रीय समूह का हिस्सा है।

स्पेन के ला पाल्मा द्वीप पर आए भूंकप की दिलाती है याद

बता दें कि भूकंपीय गतिविधि में अचानक वृद्धि पिछले साल स्पेन के ला पाल्मा द्वीप पर कुम्ब्रे विएजा ज्वालामुखी के विस्फोट से पहले पाए गए भूकंप की याद दिलाती है, जो अजोरेस से लगभग 1,400 किलोमीटर (870 मील) दक्षिण-पूर्व में है। 85 दिनों में उस ज्वालामुखी विस्फोट ने हजारों संपत्तियों और फसलों को नष्ट कर दिया था।

बार-बार आ रहे भूकंप के झटके आखिर क्या देते हैं संकेत

हालांकि, सीआइवीआइएसए ने अभी तक यह नहीं बताया है कि बार-बार आ रहे भूकंप के झटके आखिर क्या संकेत देते हैं। मार्कस ने बताया कि इस भूकंपीय संकट के व्यवहार पैटर्न को जानना अभी भी संभव नहीं है।

सीआइवीआइएसए ने द्वीप पर दो अतिरिक्त भूकंपीय निगरानी स्टेशन स्थापित करने और ज्वालामुखी गतिविधि के एक संकेतक मिट्टी गैसों को मापने के लिए टीमों को ग्राउंड लेवल पर भेजा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: