महंगी सीएनजी का सीधा किराये पर हुआ असर, जाने किराये के रेट

सीएनजी गाड़ियों का इस्तेमाल करना अब महंगा हो गया है.

सीएनजी के दाम लगातार आसमान छू रहे हैं. राजधानी दिल्ली में पिछले साल के मुकाबले सीएनजी की कीमत में 69.60 प्रतिशत की बढ़तरी हुई है.पिछले साल सीएनजी 43.40 थी, वहीं अब रविवार को किमतों में इजाफा करके दाम 73.61 कर दिया गया है. बता दें पिछले एक साल में 10 बार सीएनजी के दाम बढ़े हैं, जिसमें सिर्फ अप्रैल महीने में 4 बार सीएनजी के दाम बढ़े हैं.

सीएनजी के बढ़ते दाम का असर आम जनता के जेब पर देखन को मिल रहा है, दिल्ली में ऑटो से लेकर सारे समान ढ़ोने वाले गाड़ी सीएनजी पर ही चलते हैं जिस वजह से ऑटो से सफर करना महंगा हो सकता है, रोजमर्रा की जरूरत के समान जैसे फल, सब्जी भी महंगे हो सकते हैं. माल ढ़ोने वाली गाड़ी के किराये में 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है.

इन पेट्रोलियम उत्पादों के भी दाम बढ़े

सीएनजी के साथ-साथ पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के दामों में भी इजाफा देखने को मिला रहा है, पिछले हफ्ते पेट्रोलियम कंपनी ने घरेलू गैस सिलेंडर के दाम में 50 रुपये का इजाफा किया था, जिससे दिल्ली में गैस सिलेंडर की कीमत 1000 के करीब पहुंच गई थी. कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत बढ़ने से दिल्ली में कमर्शियल गैस की कीमत 2346 रुपये हो गया था.

बीते मार्च के महीने से पेट्रोल और डीजल की कीमत में लगातार ईजाफा हुआ है, मार्च में पेट्रोल की कीमत 95.41 प्रति लिटर थी ,10 रुपये की बढ़तरी का वजह से पेट्रोल का दाम बढ़कर 105.41 हो गया है. डीजल का दाम 86.67 से बढ़कर 97.67 हो गया है.

महंगाई का असर

बढ़ते पेट्रोलियम उत्पादों के दामों से आम जनता की जेब पर असर देखने को मिल रहा है. स्थानीय स्तर पर समान ढ़ोनो का किराया 20 से 25 प्रतिशत बढ़ा है, जिस वजह से बाजार में फल, सब्जी जैसे चीजों के दाम बढ़ने के असार हैं. इंटरनेट आधारित टैक्सी के किराये में भी 12 फीसदी की बढ़तरी हो गई है. स्कूल ट्रांसपोर्ट ने भी बीते मार्च महीने से प्रति बच्चों पर 500 रुपया का किराया बढ़ाया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: