दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे पर टोल हुआ महंगा

(Uttar Pradesh) के मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस-वे (Delhi-Meerut Expressway) पर गुरूवार रात 12 बजे से टोल की कटौती शुरू हो जाएगी.एनएचएआई ने 1 अप्रैल से टोल में 10 से 50 प्रतिशत की बढ़ोतरी की है. अब मेरठ से दिल्ली तक के सफर के लिए 155 रुपए टोल देना होगा. खास बात ये भी कि महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए 25 महिलाओं को टोल की ड्यूटी पर रखा गया है. पिछले 10 महीने से मेरठ दिल्ली एक्सप्रेस-वे आम जनता के लिए खुला है. लेकिन इस पर टोल (Delhi-Meerut Expressway Toll Tax) की कटौती नहीं की जा रही थी. यात्रि एक्सप्रेस-वे का आनंद मुफ्त में ले रहे थे.

 

155 रुपए लगेगा दिल्ली से मेरठ का टोल

 

मेरठ से दिल्ली सफर (Delhi-Meerut Expressway) के लिए अब लोगों को अपनी जेब ढीली करनी पड़ेगी. मेरठ से सराय काले खां तक 89 किलोमीटर का सफर है. जो करीब 40 से 50 मिनट में पूरा हो जाएगा, इसके लिए आम जनता को 155 रुपए टोल देना होगा. भुगतान के लिए फास्ट टैग का इस्तेमाल करना होगा. नहीं तो पेनाल्टी के तौर पर दो गुना भुगतान करना होगा.

 

मेरठ के परतापुर से चढ़ता है एक्सप्रेस-वे

 

मेरठ के परतापुर से हाई-वे (Delhi-Meerut Expressway) की शुरुआत होती है. यहां से मोदीनगर, गाजियाबाद, डासना, दिल्ली और अन्य जिलों के लिए जाया जा सकता है. हाई-वे पहले से ज्यादा आरामदायक और बचत वाला है. एक्सप्रेस-वे से गुजर रहे यात्रियों का कहना है कि सुविधा सरकार दे रही है तो उस पर टोल देने का कोई गम नहीं. इस पर सफर में न तो खराब सड़कें मिलती हैं, साथ ही समय की बचत भी होती है और तेल की खपत भी कम होती है.

 

दिल्ली से मेरठ एक्सप्रेस-वे से आये थे पीएम मोदी

 

मेरठ से दिल्ली (Delhi-Meerut Expressway) जाने के लिए पहले आम जनता को करीब 2 से 4 घंटे तक का सफर तय करना होता था. जो अब घटकर सिर्फ 40 से 50 मिनट का रह गया है. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद दिल्ली से मेरठ इसी एक्सप्रेस-वे से आए थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विधानसभा इलेक्शन से पहले रोड शो व जनसभा करने के लिए दिल्ली से मेरठ आए थे. प्रधानमंत्री को भी दिल्ली से मेरठ तक का सफर तय करने में करीब 40 मिनट ही लगे थे.

 

दोपहिया वाहनों को चलने की अनुमति नहीं

 

बता दें कि इस एक्सप्रेस (Delhi-Meerut Expressway) पर दोपहिया वाहनों को चलने की अनुमति नहीं दी जाएगी. यदि दोपहिया वाहन एक्सप्रेस-वे पर चलते नजर आए तो उनका चालान हो जाएगा. उसके लिए हाई सिक्योरिटी कैमरे, स्पीडोमीटर लगाए गए हैं. जिसकी लगातार मॉनिटरिंग कंट्रोल रूम से की जाती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: