आरटीआई कानून बना मखौल,सचिव संतलाल पटेल ने सूचना देने में कर दिया खेल।

 

शिकायत कर्ता ने लिखा मुख्य विकास अधिकारी को पत्र।

शासनादेशों की धज्जियां उड़ाने में सकरन सचिव संतलाल पटेल को हासिल महारत।

सांडा/सीतापुर(सुधीर सिंह कुम्भाणी):क्षेत्र की ग्राम पंचायत सकरन निवासी रामचंद्र यादव ने ग्राम पंचायत में कराए गए विकास कार्यों पर खर्च की गई रकम के संबंध में प्रपत्र उपस्थित करवाने हेतु आरटीआई के माध्यम से जानकारियां उपलब्ध करवाने हेतु न्यायालय के द्वारा आदेशित प्रतिलिपि शुल्क को जमा किया पर अफसोस शिकायतकर्ता द्वारा शुल्क जमा किये जाने के बावजूद भी नहीं उपलब्ध करवाई गई पूर्ण जानकारी।जिसके संबंध में शिकायत कर्ता रामचंद्र यादव ने मुख्य विकास अधिकारी को मामले को लेकर पत्र लिखा है।
विचारणीय यह है कि यह ब्लॉक सकरन के लिए कोई पहला मामला नहीं है जब सूचना देने में लेटलतीफी,अपूर्ण सूचना व अन्य शिकायतों में फर्जी आख्या के खेल में महारत हासिल सचिव संतलाल पटेल इस बार भी कर गए खेल।
शिकायतकर्ता ने 2300 प्रतियों के लिए बताए गए 4770 रुपयों को जमा कर दिया फिर भी भ्रष्ट सचिव के द्वारा मात्र 1857 प्रतियां ही उपलब्ध कराई गईं जबकि उस अभिलेख पर 2074 प्रतियां दर्शाई गई हैं।
आखिर 443 प्रतियों में ऐसा क्या है गोलमाल,जिसे सचिव महोदय रहे हैं टाल।पूर्ण शुल्क जमा करने के उपरांत भी समूचे प्रपत्र न उपलब्ध करवाने के संबंध में उच्च पदासीन अधिकारीगण क्या करते हैं कार्यवाई?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: