भारतीय छात्रों को यूक्रेन से बाहर निकालने के लिए तमिलनाडु सरकार आई आगे, जाने क्या सुविधा की

युद्धग्रस्त यूक्रेन (war-torn Ukraine) व इसके पड़ोसी देशों में फंसे छात्रों की सुरक्षित वापसी के लिए तमिलनाडु सरकार ने 3.5 करोड़ रुपये की राशि को मंजूरी दी है। इस संबंध में जारी एक सरकारी आदेश में कहा गया है कि यूक्रेन से राज्य के छात्रों को वापस दिल्ली लाने दो करोड रूपये परिवहन शुल्क के लिए जारी किये गये हैं।शेष 1.5 करोड़ रुपये का उपयोग हवाई अड्डे से छात्रों को सड़क मार्ग के जरिये उनके गंतव्य स्थलों तक पहुंचाने पर खर्च किया जाएगा। इसके साथ ही यूक्रेन के पड़ोसी यूरोपीय देशों में फंसे छात्रों की वापसी के लिए प्रतिनियुक्त सांसदों, विधायक एवं पदाधिकारियों की सरकारी टीम का खर्च भी सरकार वहन करेगी।

 

यह सरकारी आदेश नयी दिल्ली स्थित तमिलनाडु हाउस की ओर से यूक्रेन के पड़ोसी देशों में फंसे छात्रों के यात्रा परिवहन के लिए इंतजाम करने के अनुरोध के बाद जारी किया गया। तमिलनाडु हाउस के अधिकारियों ने कहा कि अब तक नयी दिल्ली से तमिलनाडु के बीच छात्रों की फ्लाइट टिकट की बुङ्क्षकग पर 60 लाख रुपये खर्च किए जा चुके हैंआदेश में कहा गया कि 75 लाख रुपये की अधिकतम क्रेडिट सीमा के लिए उपलब्ध है जो बामर लॉरी एंड कंपनी लिमिटेड के माध्यम से उड़ान टिकटों की बुङ्क्षकग के लिए 15 दिनों की अवधि के वास्ते होगी। अधिकारियों ने कहा कि फ्लाइट टिकट पर 1.40 करोड़ रुपये का अतिरिक्त खर्च होने की उम्मीद है और इसलिए सरकार से दो करोड़ रुपये मंजूर करने का अनुरोध किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: