रूस की सेना की मदद से यूक्रेन से भारतीयों को निकालने की तैयारी

भारतीय वायु सेना ने रूस की राजधानी मॉस्को से सूमी और खार्किव जैसे संघर्ष प्रभावित पूर्वी यूक्रेन के शहरों में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए दो आईएल-76 (IL-76) सैन्य परिवहन विमानों को स्टैंडबाय पर रखा है।अधिकारियों ने कहा कि पूर्वी उक्रेन के शहरों में फंसे भारतीय पश्चिमी सीमा पर नहीं जा सकते हैं, भारतीय वायुसेना रूसी सैन्य बलों की मदद से उन्हें निकालने की योजना बना रही है। अब तक, भारत यूक्रेन के पश्चिमी पड़ोसियों जैसे रोमानिया, स्लोवाकिया, पोलैंड और हंगरी से अपने नागरिकों को निकाल रहा है क्योंकि 24 फरवरी से यूक्रेन का हवाई क्षेत्र बंद है।

 

मॉस्को की उड़ान के लिए विमान तैयार

अधिकारियों ने कहा कि दो आईएल-76 विमान जो रूसी मूल के हैं, उन्हें स्टैंडबाय पर रखा गया है ताकि वे तुरंत मॉस्को के लिए उड़ान भर सकें और भारतीयों को निकाल सकें। अब तक वायुसेना ने यूक्रेन के पश्चिमी पड़ोसी देशों से सात उड़ानों में कुल 1,428 भारतीयों को निकाला है। इन सात उड़ानों का संचालन अमेरिकी मूल के सी-17 विमानों के जरिए किया गया है। भारत ने गुरुवार को कहा कि वह मुख्य रूप से पूर्वी यूक्रेन के खारकीव शहर और अन्य संघर्ष वाले क्षेत्रों से अपने नागरिकों को निकालने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।

 

एक मीडिया ब्रीफिंग में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि बुधवार को यूक्रेन में भारतीय दूतावास द्वारा जारी तत्काल सलाह के बाद लगभग 1,000 भारतीय खारकीव से सोचिन पहुंचे। बागची ने कहा कि हमारा अनुमान है कि हमारी एडवायजरी के बावजूद खारकीव में अभी भी कुछ सौ लोग हैं। दुर्भाग्य से गुरुवार को शहर में हिंसा का एक नया दौर शुरू हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: