राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी एकता का हुआ खुलासा, मुर्मू को यहां से नहीं मिले वोट

दिल्ली: राष्ट्रपति चुनाव में गुरुवार को वोटों की गिनती समाप्त होने के बाद, यह स्पष्ट हो गया कि एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू की शानदार जीत में क्रॉस वोटिंग से भी काफी मदद मिली.कई क्षेत्रीय दलों ने, भाजपा के खिलाफ अपने पॉलिटिकल स्टैंड के बावजूद, राष्ट्रपति भवन में द्रौपदी मुर्मू को देखने की इच्छा व्यक्त की थी. एनडीए उम्मीदवार ने कुल 4701 वैध मतों में से 2824 मत हासिल किए, जबकि संयुक्त विपक्ष के प्रत्याशी यशवंत सिन्हा के पक्ष में सिर्फ 1877 मत पड़े. मुर्मू ने कुल वैध मतों का 64.03 प्रतिशत हासिल किया, जो कि 2017 में निवर्तमान राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से कम है. उन्हें कुल मतदान का 65.65 प्रतिशत हासिल हुआ था.उदाहरण के लिए, 2017 में, कोविंद को राजस्थान में 166 वोट मिले थे, जो इस बार घटकर 75 रह गए; तमिलनाडु में जहां भाजपा के सहयोगी अन्नाद्रमुक को द्रमुक ने हराया था, वहां वोटों की संख्या 2017 के 134 से गिरकर 75 हो गई. यह संख्या महाराष्ट्र में 280 से 181; गुजरात में 132 से गिरकर 121 पर आ गई. मध्य प्रदेश में 171 से 146 और पंजाब में जहां AAP सत्ता में आई, एनडीए उम्मीदवार को 2017 में 18 के मुकाबले केवल 8 वोट ही हासिल ​हुए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: