सीतापुर इण्डियन बैंक द्वारा संचालित इण्डबैंक ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान

सीतापुर इण्डियन बैंक द्वारा संचालित इण्डबैंक ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान, सीतापुर द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत एलुमिनी मीट सप्ताह का आयोजन किया गया। आयोजन के मुख्य अतिथि जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज ने कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्वलित कर किया। जिलाधिकारी महोदय द्वारा उपस्थित सभी बीसी सखियों को आईआईबीएफ का प्रमाण-पत्र वितरित किया गया। जिलाधिकारी ने इण्डसेटी का निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए एवम् उपस्थित सभी प्रशिक्षणार्थियों एवं इण्डसेटी के समस्त स्टॉफ को उज्जवल भविष्य की शुभकामनाये भी दी। उन्होंने विभिन्न प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके लाभार्थियों द्वारा लगाए गए स्टालों को भी देखा एवं उनसे प्रशिक्षण में प्राप्त जानकारियों से व्यवसाय तथा कार्यशैली मे हुए सुधार के विषय में भी चर्चा की।

इस अवसर जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज ने ज्ञान की शक्ति के विषय में विस्तारपूर्वक बताते हुए कहा कि ज्ञान की शक्ति सबसे बड़ी शक्ति है। उन्होंने निरन्तर ज्ञान अर्जित कर अपनी क्षमताओं को बढ़ाने पर जोर देते हुए कहा कि इससे नए अवसर प्राप्त कर सफलता के नए आयाम अर्जित किए जा सकेंगे।

जिलाधिकारी ने स्वरोजगार हेतु विभिन्न विधाओं में प्रशिक्षण प्रदान करने में संस्थान के महत्व की सराहना करते हुए कहा कि महिलाओं को प्रशिक्षण देकर उन्हे आत्मनिर्भर बनाने में संस्थान की भूमिका महत्वपूर्ण है। उन्होंने आश्वस्त किया कि प्रशिक्षण प्राप्त करने के उपरान्त शासन द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के माध्यम से ऋण एवं अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराकर उन्हे और अधिक सशक्त किया जाएगा। उन्होंने जोर देकर कहा कि सभी अपने भाग्य के विधाता हैं लेकिन यह तब तक सम्भव नहीं है, जब तक आर्थिक रूप से स्वतंत्र न हों। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से यह प्रयास निरन्तर किए जा रहे हैं कि लोग अपना रोजगार स्थापित कर न केवल स्वयं आत्मनिर्भर बनें, बल्कि दूसरो को भी नौकरी देने में सक्षम बन सके।

उन्होने बी.सी.सखी बहनों को संबोधित करते हुए कहा कि गावों मे वित्तीय सेवाएं प्रदान करने में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका होगी। बैंकों के माध्यम से संचालित विभिन्न योजनाओं में देय लाभों को डी.बी.टी. के माध्यम लाभार्थियों के बैंक खातों में भेजा जा रहा है, जिससे धन निकासी के समय कभी कभी बैंकों मे भीड़ की स्थिति भी देखी गई है। बी.सी. सखी के माध्यम से गांव में ही वित्तीय सेवाएं मिलने से इस प्रकार की असुविधा से भी बचा जा सकेगा। उन्होंने मौजूद सभी बी.सी सखी बहनों से अपेक्षा की कि वह अपने कार्यों को पूर्ण जिम्मेदारी से करते हुए निरन्तर ज्ञान अर्जित कर सफलता के नए आयाम स्थापित करें। उन्होंने अनेक क्षेत्रों में आस पास के जनपदों के सफल व्यक्तियों से प्रेरणा प्राप्त करने हेतु भी प्रेरित किया। जिलाधिकारी ने कहा कि आज के समय में महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है और लगभग सभी क्षेत्रों में बहुत बड़ा योगदान महिलाओं का हैं। पारिवारिक जिम्मेदारियों का सफलतापूर्वक निर्वहन करने के साथ अन्य सभी जिम्मेदारियों का बेहतर समन्वय से निर्वहन भी महिलाओं द्वारा किया जा रहा है। अर्जित धन का बेहतर सदुपयोग कर अपने परिवार का बेहतर ढंग से संचालन करने में सराहनीय कार्य कर रही हैं। जिलाधिकारी ने सभी को शुभकामनाएं देते हुए उज्जवल भविष्य की कामना भी की।

इस अवसर पर इण्डियन बैंक के उप अंचल प्रमुख श्री राजीव कुमार, आरसेटी निदेशक श्रीमती प्रीती पाण्डेय, अग्रणी जिला प्रबन्धक श्री अनल कुमार सहित समस्त स्टॉफ उपस्थित रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: