एसएमडी डिग्री कॉलेज में विद्यालय प्रबंधन समिति के सदस्यों को एक दिवसीय दिया गया प्रशिक्षण*

 

*कछौना, हरदोई।* विकासखंड कछौना के अंतर्गत एसएमडी डिग्री कॉलेज में विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष गण और प्रधानाध्यापक गणों की एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर आहूत की गई। वर्तमान समय में लोकसभा चुनाव की घोषणा के कारण प्रशिक्षण प्रचार प्रसार के अभाव में खानापूर्ति तक सीमित रहा है। जिससे अपने उद्देश्यों से काफी दूर रहा। मुख्य अतिथि खण्ड शिक्षा अधिकारी कृष्ण कुमार त्रिपाठी ने संबोधित करते हुए कहा बिना सामाजिक भागीदारी के कोई संस्था बेहतर कार्य नहीं कर सकती है। हमारे विद्यालयों में मध्यम वर्गीय गरीब परिवारों के बच्चे शिक्षा ग्रहण करते हैं। हम सभी की जिम्मेदारी अपने बेहतर प्रदर्शन से नौनिहालों का सर्वांगीण विकास कर कछौना को प्रेरक ब्लॉक बनाना है। आप सभी कल के बेहतर नागरिक बनाते हैं। शिक्षा को समान शिक्षा मॉडल को देश फ़िनलैंड के बारे में बेहतर उदाहरण प्रस्तुत किया, वहां सभी के लिए समान समान शिक्षा है। शिक्षा के साथ नौनिहालों को कुशल भी किया जाता है। हम सभी को शिकायतों को दूर कर संघर्ष की रास्ता चुना है। सीमित संसाधनों से बेहतर प्रदर्शन कर कछौना को प्रेरक ब्लॉक बनाने का संकल्प लेते हैं।

इस अवसर पर शिक्षक ऋतुराज ने समग्र शिक्षा के समुदाय की सहभागिता पर प्रकाश डाला। वरिष्ठ शिक्षक आलोक कुमार ने प्रबंध समिति के दायित्वों व कर्तव्य पर प्रकाश डाला। हम सब की जिम्मेदारी है, कोई बच्चा शिक्षा से वंचित न रह जाए। आसपास कोई बच्चा शिक्षा से वंचित न रह जाए। स्कूल चलो अभियान रैली, नुक्कड़ नाटक, फिल्म के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा अभिभावकों व नौनिहालों को जागरूक करना है। शिक्षा के माध्यम से समाज में व्याप्त सामाजिक बुराई से बचाया जा सकता है। कछौना कस्बे की बालिका माधुरी सक्सेना ने एथलीट में अर्जुन अवार्ड से सम्मान पाकर देश में नाम रोशन किया है। वर्तमान समय में कायाकल्प के माध्यम से बुनियादी सुविधाओं से अमूल चूल परिवर्तन हुआ है। कछौना को शिक्षा क्षेत्र में बेहतर करने में एचसीएल फाउंडेशन का विशेष योगदान है। एचसीएल फाउंडेशन के प्रयास से समस्त विद्यालयों में स्मार्ट क्लासेस हैं।नौनिहालों को बैठने के लिए बेंचे उपलब्ध है। प्रबंध समिति का दायित्व अभिभावकों से आत्मीय संबंध स्थापित करना है। बच्चों के अभिभावकों की भागीदारी से बेहतर स्कूल बनाना है। मासिक बैठक नियमित रूप से करें, स्कूल को बेहतर माहौल देना है, जिससे नौनिहाल स्वयं विद्यालय आने को उत्सुक रहे। निपुण अभियान के तहत बच्चों का शैक्षिक स्तर का मूल्यांकन होता है। दिव्यांग बच्चों को मुख्य धारा में जोड़ने का प्रयास करना है। डीबीटी के माध्यम से स्कूल ड्रेस, जूता, बाग की धनराशि सीधे अभिभावक के खाते में जा रही है। सुरक्षित पेयजल का विशेष ध्यान रखना है। साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना है। मिड-डे मील में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखना है। बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए खेल कूद द्वारा, सांस्कृतिक गतिविधियों पर विशेष ध्यान देना है। हम सब मिलकर सबको शिक्षा देने का वायदा निभा पायेंगे। शिक्षा महज साक्षरता व पाठ्य पुस्तकों के ज्ञानार्जन तक सीमित न होकर सामाजिक सुधार की दिशा में बड़ी ताकत बने।
इस प्रशिक्षण में जूनियर शिक्षक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष राम नरेश त्रिपाठी, प्राथमिक शिक्षक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष प्रेमचंद कनौजिया, आरपी लाल बहादुर सिंह, दीपक दीक्षित, अमित कुमार, राधा त्रिपाठी, मंजरी सिंह, अशोक कुमार, सत्येंद्र सिंह, पुष्पेंद्र कुमार, सत्याधार, योगेश कुमार, सुनीता गौतम, महक जहां, अनिल सिंह, अतुल मिश्रा, नेकराम, शिवेंद्र कुमार, मनोज सिंह आदि शिक्षक गण प्रबंध समिति के पदाधिकारियों ने प्रतिभाग किया। कार्यक्रम का संचालन राघवेंद्र मिश्रा ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: