रक्षा के मामले में अत्याधुनिक होने की आवश्यकता MM नरवणे

रूस और यूक्रेन के बढ़ते युद्ध के बीच दुनिया भर के देश अपनी अपनी सुरक्षा और विदेश नीतियों की समीक्षा कर रहे हैं। ऐसे में भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने रक्षा के क्षेत्र में तत्कालिक कदम उठाने की आवश्यकता बताई है।उन्होने कहा है कि भविष्य में होने वाले युद्धों में हमें भारत में निर्मित हथियारों के साथ लड़ने के लिए तैयार रहने की आवश्यकता होगी। इसके लिए हमें आत्मनिर्भर बनना होगा।

 

यूक्रेन और रूस के बीच बढ़ता युद्ध का एक कारण नाटो भी है। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमीर जेलेंस्की लगातार नाटो संगठन से रूस के हमले से बचाव के लिए सहायता मांग रहे हैं। लेकिन कोई भी देश यूक्रेन का साथ देने के लिए सामने नहीं आ रहा। ऐसे में भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे का ट्वीट बेहद अहम है कि हमें अब रक्षा के मामले में अत्याधुनिक होने की आवश्यकता है। उनके ट्वीट से समझा सकता है कि सेना को अब भारत की रक्षा तकनीकि को अपग्रेड करते हुए आधुनिक हथियार तैयार करने की तकनीकि पर कार्य करने की आवश्यकता है।

 

शायद इसी बात को ध्यान में रखकर भारत सरकार ने आत्मनिर्भर भारत को एक अभियान के तौर पर लागू किया है, जिसके तहत भारतीय तकनीकि को लगभग पूरी तरह अपग्रेड किया जा चुका है। भारत की जल, थल और वायु तीनों सेनाओं को अत्याधुनिक तकनीकि उपलब्ध कराई जा रही है। यही नहीं रक्षा के क्षेत्र में

Leave a Reply

Your email address will not be published.

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: