छात्रों को जल्द ही पोलैंड में प्रवेश की सुविधा प्रदान की जाएगी: वी के सिंह

केंद्रीय मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वी.के. सिंह ने बुधवार को पोलैंड-यूक्रेन सीमा पर बुडोमिर्ज़ का दौरा किया, जहां उन्होंने फंसे हुए भारतीय छात्रों से मुलाकात की और उन्हें भोजन और पानी वितरित किया। इन छात्रों को जल्द ही पोलैंड में प्रवेश की सुविधा प्रदान की जाएगी जहां से उन्हें भारत भेजा जाएगा। वहां भारतीय छात्रों से मुलाकात के बाद सिंह ने कहा कि वे थक चुके हैं लेकिन छात्रों को इस बात से राहत मिली है कि उन्हें उनकी मातृभूमि में वापस लाने के प्रयास किए जा रहे हैं।निकासी प्रक्रिया की निगरानी के लिए सरकार द्वारा नियुक्त विशेष दूतों में से एक सिंह ने पोलैंड में भारत की राजदूत नगमा मल्लिक के साथ स्थिति का जायजा लेने के लिए बुडोमिर्ज़ का दौरा किया। वारसॉ (पोलैंड) में भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने पश्चिमी यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों के लिए पोलैंड सीमा पर एक नए प्रवेश बिंदु की पहचान की है।

 

दूतावास के अधिकारियों ने कहा कि ल्वीव, टेरनोपिल और पश्चिमी यूक्रेन के अन्य स्थानों में फंसे या रहने वाले छात्रों सहित भारतीय नागरिक पोलैंड में अपेक्षाकृत जल्दी प्रवेश के लिए बुडोमिर्ज़ सीमा चेक-पॉइंट पर जल्द से जल्द यात्रा कर सकते हैं।

 

उन्होंने भारतीय नागरिकों को शेहिनी-मेड्यका सीमा पार करने से बचने की भी सलाह दी जिसमें जाम लगता रहता है। भारतीय दूतावास ने अपने अधिकारियों को मेड्यका और बुडोमिर्ज़ सीमा चौकियों पर तैनात किया है ताकि सभी निकासी प्राप्त की जा सकें और भारत की यात्रा की सुविधा मिल सके।

 

इस बीच सरकार के एक अन्य विशेष दूत, केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू, फंसे हुए भारत को निकालने की निगरानी के लिए यूक्रेन के साथ सीमा के पास स्लोवाकिया में कोसिसे पहुंचे हैं। स्लोवाकिया में भारत के राजदूत वनलालहुमा और ब्रसेल्स में भारतीय दूतावास में पहले सचिव पंकज फुकन भी ‘ऑपरेशन गंगा’ के तहत निकासी मिशन की सुविधा के लिए वहां पहुंच गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: