दुबई से भारत हो रही सोने की तस्करी में बाराबंकी का एजेंट शामिल

 

महमूदाबाद-सीतापुर।(त.सवांद)। अमूमन युवाओं में इन दिनों सऊदी अरब और दुबई जाकर रोज़गार तलाशने की चाह बढ़ रही है। ऐसे में बहुत से युवा दूसरे देशों में जाकर रोज़गार तलाश रहे हैं। इसी बीच कुछ युवक एजेंटों द्वारा ‘स्कैम’ की भेंट भी चढ़ाए जा रहे हैं, जिसकी खबरें आए दिन सुनने और देखने को मिलती हैं। मगर सीतापुर के महमूदाबाद से एक ऐसी खबर सामने आई है जिसे पढ़कर न सिर्फ आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे बल्कि अगर आप भी रोजगार के लिए विदेश जा रहे हैं, तो कुछ समय के लिए आपके पैर भी थम जायेंगे। पढ़कर कुछ अटपटा सा लग रहा होगा, मगर है सौ फीसद सच। दरअसल महमूदाबाद कोतवाली क्षेत्र के रसूलाबाद मजरे देवकालिया गांव के निवासी राहुल कुमार को पड़ोसी जनपद बाराबंकी के स्याही मजरे भदरास निवासी मेराज नाम के एक एजेंट ने दुबई भेज सोने की तस्करी के जाल में फंसा डाला। हलांकि फिलवक्त राहुल सुरक्षित सोना तस्करों के जाल से बचकर दुबई से भारत अपने घर आकर असुरक्षित महसूस कर रहा है। दरअसल राहुल की मानें तो उससे एजेंट मेराज ने एक लाख साठ हजार रुपए दुबई भेज कर काम करने के नाम पर ले लिए और पांच अक्टूबर 2023 को राहुल दुबई पहुंचा। जिसके बाद राहुल को न तो कोई काम मिला और न सही से भोजन। राहुल का आरोप है कि बाराबंकी के एजेंट मेराज के द्वारा उसे दूसरे एजेंटों के हाथ बेच लिया गया। आरोप है कि राहुल को बंधक बना कर उसे अमानवीय यातनाएं दी गईं और बुरी तरह से पीटा गया। करीब एक माह से अधिक समय तक राहुल को प्रताड़ित किया गया।दबाव बनाया गया कि अगर वह सोना दुबई वाया भारत ले जायेगा तो उसे बख्शा जाएगा और घर वापस जाने दिया जायेगा। करीब एक माह से अधिक समय तक उसे अमानवीय यातनाएं दी गईं जिसके बाद जबरन उसके शरीर के मल द्वार में सोना रखकर उसे भारत 19 दिसंबर 2023 को भेजा गया। और कहा गया कि एयरपोर्ट के बाहर कुछ लोग मिलेंगे जिनको तुम नहीं बल्कि वह खुद तुम्हे पहचान लेंगे बस सोना उन्हें ही दे देना। राहुल के अनुसार उसके लखनऊ एयरपोर्ट देर रात पहुंचने पर कस्टम अधिकारी रोकते हैं और कहते हैं तुम सोना लाए हो, यह कहते हुए उसे हिरासत में लेते हैं और सोना बरामद कर लेते हैं। राहुल का कहना है कि कस्टम अधिकारियों द्वारा रात भर रोका जाता है पूंछताछ की जाती है और उसे छोड़ दिया जाता है। जिसके बाद राहुल अपने घर रसूलाबाद पहुंचता है। उसके बाद 24 जनवरी 2024 को राहुल के नाम कार्यालय सहायक आयुक्त लखनऊ से एक नोटिस आती है। जिसमें राहुल के पास से बरामद हुआ सोना 512.800 ग्राम जिसकी कीमत नोटिस में 31 लाख 84 हजार 488 रुपए दर्शाई जाती है। एजेंट द्वारा किए गए इस अमानवीय कृत्य की शिकायत पीड़ित राहुल महमूदाबाद कोतवाली समेत कई जिम्मेदारों से की थी। कार्रवाई ना होने पर पीड़ित ने एसपी सीतापुर से भी एक शिकायत 11 मार्च 2024 को की थी। जिसके बाद कार्रवाई न होने पर सोमवार को राहुल ने आईजीआरएस के मध्यम से एसपी से शिकायत की है। राहुल का कहना है की दुबई जहां उसे बंधक बनाया गया था वहां, और भी युवक बंधक थे जिसका एक वीडियो राहुल ने छुप कर बनाया था। फिलहाल राहुल असुरक्षित महसूस कर रहा है और ऐसे में कहीं दुबई वाया भारत सोने की तस्करी का राज़ न खुले इसलिए अज्ञात लोगों के द्वारा उसे मारने का प्रयास भी किया जा सकता है। ऐसा उसका कहना है। आरोप है कि बीती रविवार देर रात एजेंट मेराज ने कुछ गुंडे राहुल के घर भेजे थे, शोरशराबे के बीच गांव वाले पहुंच गए जिसके बाद वह मौके से भाग खड़े हुए।
गंभीर मामले को लेकर जब सीओ दिनेश शुक्ला से बातचीत का प्रयास किया गया तो उनका फोन नहीं उठा। हालांकि पुलिस द्वारा इस मामले को लेकर कोई बातचीत सामने नही आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: