पुलिस अधीक्षक रेलवे अनुभाग आगरा आदित्य लांग्हे द्वारा गठित ‘ऑपरेशन मुस्कान टीम’ ने कड़ी मेहनत करते हुए पांच बच्चों को खोजकर किया परिवारीजनों के सुपुर्द

 

ऑपरेशन मुस्कान टीम द्वारा अथक प्रयास करते हुए पांच बच्चों (एक राजस्थान,दो बिहार, दो उप्र) को खोजकर किया परिवारीजनों के सुपुर्द

 

विष्णु सिकरवार
आगरा। जीआरपी की मेहनत से मिली कामयाबी में 1. यह बालक नाम जतिन कुमार यादव पुत्र रवि कुमार यादव दिनांक 24.12.23 को पापा द्वारा अधिक खेलने के कारण डांटा था जिससे गुस्से मे अपने घर से निकला आया था दिनांक 25.12.23 को टीम मुस्कान को ये बच्चा साथी बाल ग्रह न्यू दिल्ली में मिला टीम मुस्कान द्वारा बच्चे से शालीनता पूर्वक पूछताछ की गई तो उसने अपना नाम जतिन और पिता का नाम रवि निवासी कोटपूतली लक्ष्मी नगर न्यू कॉलोनी जयपुर राजस्थान का रहने वाला बताया घर के किसी परिजन का मोबाईल नम्बर पूछा तो अपने पापा का मोबाईल नम्बर दिया जिस पर सम्पर्क किया गया और बच्चे की जानकारी दी गई तो उन्होंने पहचान लिया और बच्चे के पापा रवि यादव को CWC तृतीय बुलाकर बच्चे को सुपूर्द किया।
2. यह बालक जिसका नाम जमुना पुत्र मकेसर मुस्कान टीम क़ो प्रयास बालग्रह कश्मीरी गेट दिल्ली मे मिलाl बच्चे से शालीनता से बात की गयी तो बच्चे ने अपना पता गाँव जलपुरा बिहार बताया और बताया कि मेरा गांव मे कोई नहीं है व माता – पिताजी की मृत्यु हो चुकी है तथा वह बचपन से ही अपने जीजा और बहिन के पास पंजाब मे रहता है तथा मो0 न0 के बारे मे पूछने पर बताया कि मुझे किसी का मो0न0 याद नहीं है तथा बताया कि उसके जीजा और बहिन अमृतसर में न्यू फोकल पॉइंट c-50 प्लाई वाला फैक्ट्री मे रहते है और वही काम करते है l गूगल मैप के माध्यम से वहां के थाने के cug mob no पर संपर्क किया गया तथा बच्चे द्वारा बताये गये पते के बारे मे पुछा गया लेकिन काफ़ी देर तक कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली तो गूगल मैप के माध्यम से कई mob no निकालकर की गयी वार्ता के क्रम मे एक अंकित अग्रवाल नाम के व्यक्ति के mob no पर वार्ता हुई तथा बच्चे के बारे मे बताया तो उन्होंने उक्त जगह के पास के एक व्यक्ति का मो no दिया तथा उक्त no पर बात की गयी तथा बच्चे के बारे मे बताया तो उस व्यक्ति द्वारा बताया कि मे अभी थोड़ी देर मे पता करके बताता हूँ तथा थोड़ी देर बाद बच्चे की बहिन के mob no से कॉल आयी तथा बताया कि अभी एक व्यक्ति ने आपका no दिया है और बताया कि मेरा भाई आपके पास हैl तब मेरे द्वारा बच्चे के बारे मे बताया तथा बच्चे का फोटो भेजा तो बताया कि वह मेरा ही भाई है और कई दिन से गायब हैl इसके उपरांत बच्चे के जीजा प्रयास बाल गृह दिल्ली आये तथा बालग्रह के माध्यम से बच्चे क़ो cwc 3 ले जाकर उसके जीजा क़ो सुपुर्द कराया गयाl
3. यह बालक शाजाद अली पुत्र रब्बन मिया उम्र लगभग 13 वर्ष बिहार का निवासी था जो प्रयास बाल गृह कश्मीरी गेट दिल्ली में मिला था बच्चे से मुस्कान टीम द्वारा शालीनता से बात की गई तो बच्चे ने बताया कि वह अपने पापा के पास दिल्ली में रहता हु और पापा मजदूरी करते हैं मैं पापा के साथ आ गया था और मेरा मन नहीं लग रहा था इसलिए मैं बिना बताए अपने गांव के लिए निकल आया मुझे पता नहीं था कि बिहार के लिए कहा से ट्रैन मिलती हैं बच्चे से और पूछने पर बताया कि मेरे मोसी मोसा के पास ही पापा रहते हैं मुझे एक मोबाइल नंबर याद है उक्त नंबर पर कॉल करने पर पता चला कि वह नंबर उसके पिता जी का है उनको बच्चे के बारे में अवगत कराया गया और बाल गृह का पता बताया और आज बाल गृह बुलाकर बाल गृह के माध्यम से माननीय न्यायालय सीडब्ल्यूसी 3ले जाकर बच्चे को सकुशल सुपर्द किया गया।
4. यह बालक नाम अरमान पुत्र साबिर दिनांक 21.12.23 को मम्मी द्वारा पढ़ाई को लेकर डांटा था जिससे गुस्से मे अपने घर से निकला आया था दिनांक 25.12.23 को टीम मुस्कान को ये बच्चा साथी बाल ग्रह न्यू दिल्ली में मिला टीम मुस्कान द्वारा बच्चे से शालीनता पूर्वक पूछताछ की गई तो उसने अपना नाम अरमान और पिता का नाम साबिर निवासी गोपालपुर खडाना जिला बागपत उत्तर प्रदेश का रहने वाला बताया घर के किसी परिजन का मोबाईल नम्बर पूछा तो अपने मम्मी का मोबाईल नम्बर दिया जिस पर सम्पर्क किया गया और बच्चे की जानकारी दी गई तो उन्होंने बच्चे के पापा साबिर का मोबाईल नम्बर दिया जिस पर सम्पर्क कर बच्चे की जानकारी दी गई तो उन्होंने पहचान लिया और बच्चे के पापा साबिर को CWC तृतीय बुलाकर बच्चे को सुपूर्द किया गया।
5. बालक अमित अवस्थी करीब 11 वर्ष मुस्कान 3 को दिनांक 6/12/ 2023 को मुस्कान टीम को अपना ग्रह बाल ग्रह नई दिल्ली में मिला बालक से शालीनता पूर्वक पूछताछ की गई तो उसमें बताया कि मैं शाहजहांपुर का रहने वाला हूं मैं अपने घर से नाराज होकर चला गया था और मैं भटक कर दिल्ली आ गया बालक ने अपने घर का मोबाइल नंबर दिया नंबर पर बात की गई तो बाल के पिता ब्रजेश अवस्थी से बात हुई ब्रजेश अवस्थी को बालक अमित के बारे में जानकारी दी गई और बताया कि अमित अपना ग्रह बाल ग्रह नई दिल्ली में है आप उसे आकर ले जाए ब्रजेश अवस्थी द्वारा द्वारा नई दिल्ली आने में असमर्थता जताई और बताया कि मैं मजदूरी का काम करता हूं और दिल में तीन सौ रुपए कमाता हूं उसी से मेरे घर का खर्चा चलता है साहब किसी तरह मेरे बच्चे को घर तक छोड़ दें कई दिनों तक बात करने के बावजूद भी ब्रजेश द्वारा गरीबी का हवाला देते हुए दिल्ली आने में असमर्थ था जताई जरिए whatsapp बालक अमित अवस्थी व उसके पिताजी ब्रजेश अवस्थी का आधार कार्ड मंगवाकर मानी न्यायालय सीडब्ल्यूसी तृतीय नई दिल्ली की आदेश के अनुपालन में बालक अमित अवस्थी ब्रजेश अवस्थी निवासी कैलाश नगर कॉलोनी हथोड़ा बुजुर्ग थाना रोजा जनपद बुलंदशहर को बाल ग्रह के कर्मचारी मोहम्मद मुजीब के साथ कैलाश नगर कॉलोनी हथोड़ा बुजुर्ग थाना रोजा जनपद शाहजहांपुर भेजकर उसके माता श्रीमती पिंकी अवस्थी को नियमानुसार सुपुर्द कराया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: