डूडा विभाग तीसरी मंजिल व एसडीएम कार्यालय चांदपुर दूसरी मंजिल से नीचे लाया जाए डीएम से की मांग ग्राम पंचायत अधिकारी व ग्राम प्रधान द्वारा मुख्यमंत्री आवास में घूस ली जा रही उन पर कार्यवाही की जाए


 

बिजनौर / राष्ट्रीय विकलांग एसोसिएशन की बैठक मंगलवार को नुमाइश ग्राउंड बिजनौर उत्तर प्रदेश में हुई। जिसकी अध्यक्षता राष्ट्रीय अध्यक्ष एमआर पाशा तथा संचालन नगीना ब्लॉक अध्यक्ष गजेंद्र पाल सिंह तथा युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अरबाज अंसारी ने संयुक्त रूप से किया। नुमाइश ग्राउंड से दिव्यांगजन जुलूस प्रदर्शन करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे। तथा डीएम कार्यालय का घेराव किया। माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के नाम ज्ञापन जिलाधिकारी बिजनौर को सौंपा।
राष्ट्रीय विकलांग एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष एमआर पाशा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में दिव्यांगों की संख्या दो करोड़ तथा पूरे भारतवर्ष में 11 करोड़ है। और जिला बिजनौर में दिव्यांगजन संख्या 40000 से अधिक है। लेकिन दिव्यांगों के लिए कोई भी सुविधा उपलब्ध नहीं है। इसलिए दिव्यांगजन अपनी समस्त मांगों को लेकर डीएम कार्यालय का घेराव किया। तथा वहीं धरने पर बैठ गए। राष्ट्रीय अध्यक्ष एमआर पाशा का कहना है कि जब तक दिव्यांग जनों की समस्त मांगे पूरी नहीं होती। तब तक दिव्यांगजन धरने से नहीं हटेंगे। चाहे इसमें हमारी जान भी चली जाए। दिव्यांग जनों का सरकारी कार्यालयों में व पुलिस विभाग में बहुत उत्पीड़न होता है। सभी सरकारी अधिकारी व पुलिस विभाग दिव्यांग जनों को हीन भावना की नजरों से देखते है। हमारे देश में संविधान में सब को एक समान अधिकार दिया गया है। तो फिर दिव्यांग जनों के साथ इतना अन्याय क्यों इनको क्यों हीन भावना की नजरों से देखा जाता है। इनको क्यों सम्मान नहीं मिलता। सरकारी विभागों मे दिव्यांग जनों को समस्त सरकारी कार्यालयों में सम्मान दिया जाएं।
उन्होंने कहा कि डूडा विभाग तीसरी मंजिल पर है जहां पर दिव्यांगजन नहीं जा सकता और डूडा विभाग में प्रचलित योजना का लाभ नहीं ले पाता डूडा विभाग नीचे शिफ्ट किया जाए,तहसील चान्दपुर में एसडीएम कार्यालय दूसरी मंजिल पर है जहां पर दिव्यांगजन नहीं जा सकता एसडीएम कार्यालय नीचे शिफ्ट किया जाए,दिव्यांग जनों के मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत आवास बनने थे लेकिन जो पात्र दिव्यांग जन है। उनके आवास नहीं बन पा रहे हैं। अपात्र के आवास बन रहे हैं क्योंकि ग्राम प्रधान व सेक्रेटरी अपात्रों से 25 से तीस हजार रुपए ले रहे हैं रिश्वत गरीब पात्र दिव्यांगजन रिश्वत नहीं दे सकता इसलिए उनके आवास नहीं बन पा रहे हैं ग्राम पंचायत अधिकारियों तथा ग्राम प्रधानों के खिलाफ कार्रवाई कर पात्र दिव्यांग जनों के मुख्यमंत्री आवास बनवाए जाए,दिव्यांगजन को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उन्हें रोजगार दिया जाए तथा ऋण दिया जाए। ताकि वह अपना रोजगार कर सके। शाखा प्रबंधक दिव्यांग जनों को ऋण नहीं देते सभी शाखा प्रबंधकों को निर्देश दिया जाए कि दिव्यांग जनों को ऋण दें ताकि वह अपना रोजगार कर सके व समाज में सम्मानजनक जीवन यापन कर सके,मनबुद्धि महिला जो काफी दिनों से गायब है इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए जो दोषी है उसको सजा मिले किसी निर्दोष को इसमें फंसाया ना जाए और ना ही जेल भेजा जाए, झालू नगर पंचायत में कार्यरत शाकिर को संविदा से हटा दिया गया है उनको संविदा पर रखा जाए।
राष्ट्रीय विकलांग एसोसिएशन के युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अरबाज अंसारी व संगठन के कानूनी सलाहकार हिरेंद्र चौहान एडवोकेट ने कहा कि दिव्यांग जनों का उत्पीड़न किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके लिए हमें एक बड़ा आंदोलन राष्ट्रीय स्तर व प्रदेश स्तर पर किया जाएगा।
इस अवसर पर गजेंद्र सिंह गुरबचन सिंह निरंजन मास्टर शहजाद गोविंदपुर वाले शाह आलम ऋषिपाल सिंह शाकिर अली झालू वाले एडवोकेट आकील अली झालू वाले इमरान जोझा सजाकत अली तुलसी सिंह अफरोज जहां सायरा खातून निशा सिंह दिनेश कुमार मोहित शर्मा नदीम अहमद नगर अध्यक्ष नगीना बाला देवी वीर सिंह अजमल अली आदि उपस्थित रहे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें