शिक्षकों की समस्याओं के समाधान में अधिकारियों के क्यों छूट रहे पसीने

शिक्षकों की समस्याओं के समाधान में अधिकारियों के क्यों छूट रहे पसीने

 

छात्र छात्राएं आए दिन अध्यापकों के बीच हो रहे बिवाद के बाबत दे रहे गवाही

 

कोथावां/हरदोई_शिक्षा के मंदिरों मे शिक्षकों के मध्य आये दिन होने वाले मनमानी पूर्ण रवैया रोज ही अखबारों की सुर्खियां बनते दिखाई दे रहे है।इस तरह के विवाद व तानाशाही रवैया जहाँ नौनिहालों के भविष्य की नीव कमजोर कर रहे है वहीं शिक्षा के मंदिर भी कलंकित हो रहे है।ऐसे में विद्यालय में होने वाले विवादों पर अंकुश लगाने व शिक्षा व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित रखने के लिये विकास खण्ड स्तर से लेकर जिला स्तर तक शासन द्वारा एक भारी भरकम अधिकारियों की फौज लगा रखी है।इतनी लम्बी अधिकारियों की फौज के बीच विद्यालयों का सही से संचालन न हो पाना अपने आप मे एक यक्ष प्रश्न बन जाता है। ऐसा ही एक मामला विकास खण्ड कोथावां के संविलियन विद्यालय अटिया मझिगवां का है जहां पर एक दबंग सहायक अध्यापक सत्येंद्र सिंह द्वारा बच्चों की पढाई में रूचि न लेकर विद्यालय से गायब रहने का अपना शगल बना लिया। महीने मे कभी कभार स्कूल आकर पूरी हाजिरी लगाकर ड्यूटी करने वाले शिक्षक को जब प्रभारी इंचार्ज शिवमूर्ति त्रिपाठी ने टोक दिया तो इस दंबंग शिक्षक ने अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुये गाली गलौज कर डाला।जिससे विद्यालय मे अध्ययन रत छात्रो ने सुना। विद्यालय मे कार्यरत शिक्षामित्रों वा अन्य सहायक अध्यापकों ने भी घटना की तस्दीक की। विद्यालय इंचार्ज ने लिखित शिकायत बीईओ अजय प्रताप सिंह को दी। जिस पर बीईओ ने स्कूल मे जाकर जांच भी की। लेकिन जांच करने के बाद घटना सत्य होने पर भी दंबंग शिक्षक पर कार्यवाही न होना बीईओ की कार्यशैली पूरी तरह से सवालों के घेरे मे आ गयी है। आखिर खण्ड शिक्षाधिकारी उक्त शिक्षक पर कार्यवाही क्यो नही कर पा रहे है।उन्हे कार्यवाही से कौन रोक रहा है। क्या बीईओ के पद पर रहते हुये इस विवाद निपटारा का उनका दायित्व नही है। ऐसे मे बीईओ के ढुलमुल रवैये को लेकर इस प्रकार के सवाल उठने लाजिमी है। कि क्या बीईओ इस शिक्षक को बचाने की जुगत मे लगे है। क्या मामले मे लक्ष्मी जी की दया से शिक्षक अपनी कुर्सी पर काबिज है। उपरोक्त मामले पर गवाही देते हुए उक्त प्राथमिक विद्यालय में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं ने भी अपनी बात कही उनके अनुसार आए दिन विद्यालय में दोनों अध्यापकों के बीच वाद विवाद होता रहता है जिससे नौनिहालों की शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चौपट है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: