ग्राम जसरथपुर के तालाब और सरकारी भूमि से अवैध कब्जा नही हटा सका तहसील प्रशासन 

ग्राम जसरथपुर के तालाब और सरकारी भूमि से अवैध कब्जा नही हटा सका तहसील प्रशासन

 

श्रवण कुमार मिश्र

 

सीतापुर / तहसील प्रशासन की नाक के नीचे स्थित ग्राम पंचायत जसरथपुर में सरकारी भूमि और तालाब भू माफियाओं के शिकंजे में जकड़े हुए है । ग्रामीणों द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों से इनको खाली कराने की लगाई गुहार भी नक्कारखाने में तूती की तरह गायब हो गई है । प्रदेश शासन के बुलडोजर का रुख भी यहां के अवैध कब्जों को नहीं हटा पाया है । जिससे बाबा के बुलडोजर की कार्य प्रणाली पर भी लोगो में सवाल उठने लगे है । तहसील कार्यालय से चंद कदमों की दूरी पर सीतापुर हरदोई मार्ग के किनारे स्थित ग्राम जसरथपुर जो ग्राम पंचायत का मुख्य गांव है । इस गांव में रोड के पश्चिम सटा हुआ भूतेश्वर महादेव आश्रम और प्राचीन तालाब है । इसी तालाब के पश्चिमी सिरे की अधिकांश भूमि को पाटकर गांव के कुछ दबंग भू माफियाओं ने अवैध रूप से अपनी इमारतों का निर्माण करा लिया है । इतना ही नहीं इसी तालाब के दक्षिणी सिरे पर ग्राम सभा की काफी भूमि खाली पड़ी हुई थी । जिस पर बीते समय बड़े हनुमान मंदिर के ब्रह्मलीन पुजारी बाबा पल्टूदास जलविहार का मेला कराते थे । लेकिन उनके स्वर्गवासी होने के उपरांत कार्यभार संभालने वाले बाबा रामरतन दास रसिक ने बीते 4 वर्ष पूर्व दो बार ही जलविहार मेला करा पाए । लेकिन गांव के दबंगों ने ग्राम समांज की भूमि को पूरी तरह अपने कब्जे में जकड़ लिया है । जिससे बीते चार वर्षों से मेला बंद चल रहा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: