योग भारतीय संस्कृति का प्राचीन व महत्वपूर्ण अंग

महमूदाबाद, सीतापुर

योग भारतीय संस्कृति का प्राचीन व महत्वपूर्ण अंग रहा है। योग के द्वारा जहां हमारा शरीर स्वस्थ होता है, वही हमारा मन भी स्थिर रहता है। योग के द्वारा हमें निरोगता मिलती है। योग के विषय में रुचि जागरण का कारण आधुनिक समाज में मानसिक तनावों एवं रोगों की दर में वृद्धि होना है। स्वास्थ्य के लिए योग का मानव जीवन में विशेष स्थान है। आज योग के महत्व को पूरा विश्व समझ रहा है।

उक्त बातें सीता इंटर कॉलेज परिसर में अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर मंगलवार की सुबह योग शिविर के दौरान प्रधानाचार्य आरके वाजपेयी ने कहीं। योग प्रशिक्षक कालेज के शिक्षक विजय वर्मा ने भी योग के महत्व पर विस्तार से प्रकाश डालते हुये बताया कि योग हमारी जीवनशैली में परिवर्तन लाकर हमारे अंदर जागरूकता उत्पन्न करता है। योगाचार्य विजय वर्मा द्वारा ताड़ासन, तिर्यक कोणासन, वृक्षासन, पद्मासन, कपालभाति, सूक्ष्म योगिक क्रियाएं, ध्यानमुद्रा, अर्ध उष्ट्रासन, उष्ट्रासन, ओमकार जाप, ज्ञान मुद्रा, वज्रासन, भसिक्रा, उज्जाई, भ्रामरी, अनुलोम-विलोम कोणसन, शशकासन सहित कई अन्य योग क्रियाएं करायी गयी। कालेज के कक्षा नौ के छात्र दिलीप शर्मा ने नौलि क्रिया कर पेट की चर्बी घटाने के साथ पेट को स्वस्थ्य रखने का अचूक उपाय योग द्वारा बताया। इस अवसर पर वरिष्ठ अधिवक्ता ज्ञानेंद्र प्रताप वर्मा, शिवदास पुरवार, विनोद गुप्त, रमेश मिश्र, कालेज के डिप्टी मैनेजर वागीश दिनकर, उप प्रधानाचार्य सीनियर वर्ग आरजे वर्मा, जूनियर वर्ग के प्रधानाचार्य अनंत रत्नम्, उप प्रधानाचार्य एसआर वर्मा, एकेडमी के वाइस प्रिंसिपल अवनीश अवस्थी, प्रतिभा सिंह, राजकुमारी वर्मा, पुष्पा गुप्ता, संजू रस्तोगी, मंजू सिंह, दिल मोहनी मिश्रा, अंशु गुप्ता, रत्ना विश्वकर्मा, वीरेंद्र मिश्र, अखिलेश शर्मा, राकेश शुक्ल, नवनीत पांडेय सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं, शिक्षक-शिक्षिकाएं व गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: