ब्रिटिश शासन मे संचालित विद्यालय प्रांगण मे बाउंड्रीवाल न होने आजारक तत्व विद्यालय मे आकर खेलते है जुआ।

पत्रकार श्री प्रकाश गुप्त

सीतापुर जनपद केअंतर्गत विकास खंड महोली नगर मे स्थित उच्चतर माध्यमिक विद्यालय ब्रिटिश काल से बच्चे शिक्षा ग्रहण करते है। इस विद्यालय से पढ़कर गये बच्चे उंचे मुकाम हासिल किए है। सरकार की तरफ से देश के सभी विद्यालयों की स्थित बदल चुकी है। कई विद्यालय स्मार्ट बन गए है। लेकिन यह विद्यालय सरकार की अनदेखी के कारण अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा है। इस विद्यालय मे संसाधन का अभाव होने के कारण पिछड़ेपन मे इसकी गिनती आती है। इस विद्यालय मे सन 2019 मे बनाए गए शौचालय की तालो की चावी आज भी विद्यालय के हवाले नही की गई है। अजारक तत्वो के द्वारा ताला तोड़कर इस्तेमाल किए जाने पर विद्यालय की प्रधानाचार्या द्वारा नये ताले मंगवाए और चावी अपने पास रख ली। लेकिन नगर पंचायत पिछले चार सालो से अभीतक शौचालय की चावी विद्यालय के हवाले नही की। विद्यालय प्रांगण मे बाउंड्रीवाल न होने के कारण शौचालय मे लगी पानी की टोंटी अजारक तत्वो द्वारा गायब कर दिए गए है। तथा बाउंड्रीवाल न होने के कारण बाहरी लोगो का आवागमन विद्यालय प्रांगण मे बना रहता है। विद्यालय के बाद अजारक तत्व यहाँ आकर जुआ वगैरह खेलते रहते है।विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती रफत जहां ने बताया। कि वह कई बार ऊपर के अधिकारियो से बाउंड्रीवाल के बारे मे शिकायत की लेकिन कोई सुधार नही हुआ है। इस विद्यालय के पास ही बी आर सी आफिस भी है ।फिर भी इस विद्यालय की ओर किसी का ध्यान आकर्षित नही होता है। सन 1929 ब्रिटिश शासन मे बनी विद्यालय भवन की मजबूती आज भी तारीफ के काबिल है इसकी मजबूती आज तक कायम है। सरकार अगर थोड़ा-बहुत ध्यान इस ओर आकर्षित करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: