सिकंदरा स्थित कैलाश मंदिर पर प्रस्तावित कॉरिडोर के संबंध में मंडलायुक्त तथा जिलाधिकारी भान ने की संबंधित विभागों व कैलाश मंदिर के महंतों के साथ बैठक

 

बैठक में उप्र पर्यटन विभाग द्वारा तैयार किये गए कॉरिडोर प्रस्ताव का दिया गया प्रेजेंटेशन, मौके पर कैलाश मंदिर पर यमुना किनारे बने घाट का किया निरीक्षण

विष्णु सिकरवार
आगरा। गुरुवार को उत्तर प्रदेश शासन द्वारा सिकंदरा स्थित कैलाश मंदिर पर कॉरिडोर प्रस्ताव की प्रगति के संबंध में आज मंडलायुक्त श्रीमती रितु माहेश्वरी तथा जिलाधिकारी भानु चन्द्र गोस्वामी द्वारा मौके पर निरीक्षण तथा संबंधित विभागों व कैलाश मंदिर के महंतों के साथ बैठक की गई।
बैठक में सर्वप्रथम मंडलायुक्त ने उ०प्र० पर्यटन विभाग द्वारा तैयार किये गए कैलाश मंदिर कॉरिडोर प्रस्ताव के प्रस्तुतिकरण को देखा, बैठक में बताया गया कि एक प्रवेश द्वार,यमुना घाट पर 80 मीटर घाट निर्माण व सौंदर्यीकरण तथा एक चेंजिंग रूम,चार छतरी हेतु स्वीकृत प्रस्ताव में प्रवेश द्वार का कार्य जारी है। मंडलायुक्त ने प्रवेश द्वार के साथ साथ यमुना घाट के निर्माण, सौंदर्यीकरण पर भी अति शीघ्र कार्य प्रारंभ कराने हेतु निर्देश दिए।
संयुक्त उप निदेशक,पर्यटन ने बताया कि श्री कैलाश मंदिर के पर्यटन विकास हेतु कॉरिडोर प्रस्ताव में अन्य 40 मीटर और घाट का निर्माण, मंदिर के आंतरिक मार्ग पर शेड व प्रवेश द्वार, कम्युनिटी हॉल,एक भंडार गृह,सात छतरी, चेंजिंग रूम, म्युरल पेंटिंग आदि के कार्यों का संशोधित प्रस्ताव प्रेषित किया जाना है, अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी ने बताया कि कैलाश मंदिर की तरफ जाने वाली चार मीटर अप्रोच रोड़ को सात मीटर का तथा 1.5 मीटर चौड़े पाथवे का निर्माण लोक निर्माण विभाग द्वारा किया जाना, बैठक में डीएफओ ने अवगत कराया कि वन विभाग द्वारा एक गार्डन का विकास किया जाना, लाइट , विद्युत पोल इत्यादि कार्य किए जाने की कार्य योजना शामिल की गई है। मंडलायुक्त ने पर्यटन, लोक निर्माण, वन विभाग इत्यादि विभागों के द्वारा अलग अलग कराए जाने वाले कार्यों के संपूर्ण प्रस्तावों को समन्वित कर कंसल्टेंट फर्म से परामर्श कर पर्यटन विभाग द्वारा एक एकीकृत प्रस्ताव प्रेषित किए जाने के निर्देश दिए तथा प्रस्ताव में,कॉरिडोर में दर्शनार्थ-श्रद्धालुओं की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए मंडलायुक्त ने प्रस्ताव को संशोधित कर इसमें सामुदायिक शौचालय, ड्रेनेज सिस्टम,पार्किंग की व्यवस्था करने और सड़क किनारे से लेकर घाट तक डेकोरेटिव पोल, फ़साड़-म्यूरल लाइट लगाकर सौंदर्यीकरण किये जाने की कार्य योजना को भी शामिल करने के निर्देश दिए। साथ ही संयुक्त निदेशक पर्यटन को दस दिन में फाइनल कॉरिडोर प्रस्ताव बनाकर शासन में भेजने को कहा। बैठक में श्री कैलाश मंदिर, को नगर निगम क्षेत्र में शामिल किए जाने हेतु नगरायुक्त को प्रस्ताव तैयार कर प्रेषित करने को मंडलायुक्त महोदया द्वारा निर्देश दिए गए। तथा कैलाश मंदिर मार्ग पर साफ सफाई सुनिश्चित करने, बंदर व निराश्रित गौवंश की समस्या पर प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिए।बैठक के बाद मंडलायुक्त ने कैलाश मंदिर के पार्श्व में स्थित यमुना नदी किनारे बने घाटों का निरीक्षण किया। घाट के पास ही शमशान घाट भी बना हुआ था जो कि अविकसित था। मंडलायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को घाटों पर नियमित साफ-सफाई के साथ सौंदर्यीकरण करने और शमशान घाट को भी कॉरिडोर योजना में शामिल कर इसे विकसित करने के निर्देश दिए। श्रद्धालुओं की सुरक्षा हेतु घाट की अंतिम सीढ़ियों पर रेलिंग व चैन लगाने के निर्देश दिए। इसके बाद मंडलायुक्त सहित सभी अधिकारियों ने कैलाश मंदिर में विधिवत पूजा की। पूजन कैलाश मंदिर महंत निर्मल गिरी जी द्वारा कराया गया।
निरीक्षण के समय नगरायुक्त अंकित खंडेलवाल, आगरा विकास प्राधिकरण उपाध्यक्ष, चर्चित गौड़,डीएफओ आदर्श कुमार, मुख्य विकास अधिकारी ए.मनिकंडन, सिटी मजिस्ट्रेट, आनंद कुमार,एसडीएम सदर ,जोइंट डायरेक्टर पर्यटन अविनाश चंद्र मिश्रा,कैलाश मंदिर श्री महंत निर्मल गिरी ,अशोक कुलश्रेष्ठ तथा संबंधित विभागों के अधिकारीगण मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: