280.72 लाख से लोहिया के न्यूरो साइंस सेंटर को मिलेगी रफ्तार*

 

*डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने धनराशि अवमुक्त करने के दिए निर्देश*

लखनऊ
राजधानी के गोमतीनगर स्थित डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के न्यूरो साइंस सेंटर को शुरू करने की कवायद तेज हो गई है। इसमें मॉड्यूलर ऑपरेशन थिएटर और नेटवर्किंग के लिए प्रदेश सरकार ने बजट का प्रावधान किया है। डिप्टी सीएम ने जल्द धनराशि अवमुक्त करने के लिए प्रमुख सचिव, चिकित्सा शिक्षा को निर्देश दिए हैं।
डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने बताया कि लोहिया संस्थान में न्यूरो साइंस सेंटर का निर्माण चल रहा है। इसमें माड्यूलर ओटी के लिए इंटीग्रेटेड सिस्टम की स्थापना की जाएगी। नेटवर्किंग की व्यवस्था रहेगी। इसके लिए प्रमुख सचिव को 280.72 लाख अवमुक्त करने के निर्देश दिए गए हैं। इससे न्यूरो सांइस सेंटर के काम को रफ्तार मिलेगी। न्यूरो के गंभीर मरीजों को आधुनिक इलाज मिलेगा। स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय में संचालित नर्सिंग कॉलेज को 1,82,87,121. 28 लाख रुपए फर्नीचर एवं अन्य सेवाओं के लिए जारी होंगे। 178.70 लाख रुपये से इलाज में इस्तेमाल होने वाले उपकरण क्रय किए जाएंगे। स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय, प्रतापगढ़ में ब्लड एंड काम्पोनेन्ट यूनिट और रक्तकोष की स्थापना के लिए 22.87 लाख अवमुक्त करने के निर्देश दिये गये हैं।

*इन अस्पतालों में सुविधाएं बढ़ेगी*
-लखनऊ स्थित डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) चिकित्सालय की ओपीडी के संचालन और जरूरी उपकरण क्रय किए जायेंगे। इसके लिए 14750000 रुपये की स्वीकृति दी गयी। साथ ही हाई कोर्ट की एलोपैथिक डिस्पेंसरी में चिकित्सकीय उपकरणों के लिए 8,00,000 रुपये की स्वीकृति दी गयी।
-गौतमबुद्ध जिला संयुक्त चिकित्सालय का विस्तार होगा। अभी 100 बेड पर मरीज भर्ती किए जा रहे हैं। इसे बढ़ाकर 240 बेड किए जाएंगे। इसके लिए 28941624 लाख रुपये की स्वीकृति दी गयी। इसमें फर्नीचर व उपकरण आदि क्रय किए जायेंगे।
-मुरादाबाद के जिला महिला चिकित्सालय को उच्चीकृत करने व उपकरणों के लिए एक करोड़ छह हजार आठ सौ अस्सी रुपये की धनराशि को मंजूरी दी गई है। इस बजट से ऑपरेशन थियेटर, गायनोकॉलॉजी विभागों की मरम्मत होगी। उपकरणों क्रय किए जाएंगे।
-भदोही के महाराजा बलवन्त सिंह राजकीय चिकित्सालय एमसीएच चाइल्ड हॉस्पिटल को पीपीपी मोड पर चलाया जाएगा। इसके लिए 205.25 लाख रुपये तुरंत जारी करने के निर्देश दिए हैं। ताकि एमसीएच चाइल्ड हॉस्पिटल का निर्माण का काम जल्द पूरा कराया जा सके। साथ ही महाराजा चेतसिंह चिकित्सालय को भी उच्चीकृत किया जाएगा। इसके लिए 23617,88800 की स्वीकृति दी गयी है।
-फर्रुखाबाद के डॉ. राम मनोहर लोहिया महिला चिकित्सालय में उच्च गुणवत्ता के आधुनिक उपकरण स्थापित किये जाएंगे। इसके लिए एक करोड चौतीस लाख एक हजार सात सौ पचास रुपये की वित्तीय स्वीकृति मिली है।
-मेरठ के 50 शैय्यायुक्त संयुक्त चिकित्सालय को उच्चीकृत किया जाएगा। इसके लिए 3155910 रुपये की वित्तीय स्वीकृति दी गयी है।
-सिद्धार्थनगर के बासी में 50 शैय्यायुक्त संयुक्त चिकित्सालय की स्थापना, उपकरणों व फर्नीचर आदि के लिए 32544446 लाख की स्वीकृति दी गयी।
-आजमगढ़ के अमर शहीद राजा जयलाल सिंह 100 शैय्यायुक्त संयुक्त जिला चिकित्सालय को उच्चीकृत किया जाएगा। 17893120 रुपये की मंजूरी दी गई है।
-हरदोई के 100 बेड संयुक्त चिकित्सालय में अत्याधुनिक उपकरणों के लिए 1280651000 की स्वीकृति दी गयी।
-महोबा जिला चिकित्सालय को उच्चीकृत किया जायेगा। इसके लिए 12221440 की वित्तीय स्वीकृति दी गयी।

*अपग्रेड किया जा रहे अस्पताल*
मेडिकल कॉलेज और स्वास्थ्य विभाग के अस्पतालों को अपग्रेड किया जायेगा। भवन निर्माण, मरम्मत से लेकर जरूरी उपकरण क्रय किए जायेंगे ताकि मरीजों को आधुनिक इलाज की सुविधा का लाभ प्रदान किया जा सके। सरकारी अस्पतालों के प्रति मरीजों का भरोसा बढ़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नमस्कार,नैमिष टुडे न्यूज़पेपर में आपका स्वागत है,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे 9415969423 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें
%d bloggers like this: